कंप्यूटर प्रोग्रामिंग क्या है, कैसे सीखें? (जानिये हिंदी में)

प्रोग्रामिंग भाषा क्या है? (What is Programming Language?)

आज हम सीखेंगे की कंप्यूटर प्रोग्रामिंग क्या है? (What is Computer Programming?) यह एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा हम कंप्यूटर को कार्य करने के लिए निर्देश (Instructions) देते है। जैसा की हम जानते है की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (Programming Language) निर्देशों (Instructions) की एक विशेष सेट (Set) होती है, कंप्यूटर हमारे द्वारा दिये गये निर्देशों को एक्सीक्यूट (Executes) करता है और हमे सही आउटपुट (Output) दे सके।

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग क्या है, कैसे सीखें (What is Computer Programming in Hindi)एक प्रोग्रामर, कंप्यूटर प्रोग्रामर, डेवलपर, कोडर, या सॉफ्टवेयर इंजीनियर एक ऐसा व्यक्ति है जो कंप्यूटर प्रोग्राम्स (Computer Programs) बनाता है, उसे हम एक प्रोग्रामर के रूप में जानते है। प्रोग्रामर प्रोग्राम लिखने के लिए कुछ विशिष्ट भाषाओं का उपयोग करता है जिसे प्रोग्रामिंग भाषाओं के रूप में जाना जाता है उदाहरण: C, C++, C#, Java, PHP, Python, Ruby, JavaScript, SQL आदि।

प्रोग्रामिंग भाषा के प्रकार (Types of Programming Language)

प्रोग्रामिंग भाषाओं को मुख्य रूप से दो भागों में वर्गीकृत किया जाता है, जो निम्नानुसार हैं:

  • निम्न स्तरीय भाषा (Low Level Language) –
  1. मशीनी भाषा (Machine Language): जैसा की हम जानते है की कंप्यूटर सिस्टम केवल बाइनरी भाषा (binary language) को ही समझता है, कंप्यूटर को निर्देश हम बाइनरी भाषा में जो की 0 और 1 में देते है, जिसे मशीनी भाषा (Machine Language)कहते है, यह काफी तेज़ एक्सीक्यूट(Execute)होती है, इसी कारण यह किसी अन्य प्रोग्रामिंग भाषा (Programming Language) को पहले मशीनी भाषा में बदलता है तब एक्सीक्यूट (Execute) होकर आउटपुट (Output) प्रदान करता है।
  2. असेंबली भाषा (Assembly Language): मशीनी भाषा (Machine Language) को और भी सरल बनाने के लिए असेंबली भाषा को बनाया गया, इसमें प्रोग्राम्स को म्नेमोनिक्स (Mnemonics) के रूप में लिखा जाता है जैसे: NOV, ADD, SUB इत्यादि। जैसे की हम जानते है की कंप्यूटर सिर्फ बाइनरी भाषा को समझता है इसलिए असेम्बली भाषा को मशीनी भाषा (Machine Language) में अनुवाद (Translate) करना होता है, असेम्बली भाषा (Assembly language) को मशीनी भाषा (Machine Language) में अनुवाद (Translate)। करने वाले अनुवादक (Translator) को असेम्बलर (Assembler) कहते है। यह प्रोग्राम्स कंप्यूटर में काफी कम जगह लेते है और बहुत तेज़ी से एक्सीक्यूट (Execute)होते है लकिन इनके साथ यह समस्या है की यह पूरी पूरी तरह से मशीनी भाषा पर
    निर्भर होते है और इन प्रोग्राम्स को लिखना और समझाना काफी मुश्किल होता है।
  • उच्च स्तरीय भाषा (High Level Language) –
  1. तृतीय पीढ़ी भाषा (Third Generation Language): तृतीय पीढ़ी भाषा पहली ऐसी भाषा है, जिसने प्रोग्रम्मेर्स (Programmers) को मशीनी भाषा (Machine Language) और असेम्बली भाषा (Assembly Language) में प्रोग्राम लिखने से आजाद कर दिया क्योंकि प्रोग्राम लिखने के लिए हमे मशीन के आर्किटेक्चर (Architecture) को समझने की जरुरत नही होती थी, इसे लिखना और पढना काफी आसान होता है। तृतीय पीढ़ी के कुछ लोकप्रिय प्रोग्रामिंग भाषाएँ निम्नलिखित है:- कोबोल (COBOL), पास्कल (PASCAL), सी (C), सी++ (C++) आदि।
  2. चतुर्थ पीढ़ी भाषा (Fourth Generation Language): चतुर्थ पीढ़ी भाषा को तृतीय पीढ़ी भाषा की तुलना में अधिक सरल बना गया है, इन्हें पढना, लिखना और समझना काफी आसानी है बिलकुल अंग्रेज़ी लैंग्वेज की तरह। इससे सॉफ्टवेयर विकास करना बेहद आसन हो गया। इन्हे कुछ सीमित कार्यो को करने के लिए बनाया गया है जैसे डाटाबेस (DataBase) सम्बंधित कार्य को करने के लिए बनाया गया है।
    इनके अन्य उदाहरण है – माइक्रोसॉफ्ट विज़ुअल स्टूडियो (Microsoft Visual Studio), जावा स्टूडियो (Java Studio) आदि।

कंप्यूटर प्रोग्राम क्या है? (What is Computer Program?)

कंप्यूटर प्रोग्राम निर्देशों की एक सूची है जो कंप्यूटर को आदेश देता है कि कार्य का निष्पादन किस योजना या प्रक्रिया द्वारा करना है। प्रोग्रामिंग भाषाओं के द्वारा बनाये गये कंप्यूटर प्रोग्राम्स निष्पादित होने पर एक विशिष्ट कार्य करते है, जैसे की कि गणना कैसे की जानी चाहिए और इसकी गणना कैसे नहीं की जानी चाहिए।

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कैसे सीखें? (How to Learn Programming Language?)
  • किसी एक प्रोग्रामिंग लेंग्वेज का चयन करना।
  • आसान प्रोग्रामिंग लेंग्वेज के साथ शुरुआत करें।
  • इन्टरनेट पर उपलब्ध ऑनलाइन ट्यूटोरियल्स को पढ़ें।
  • प्रोग्रामिंग लेंग्वेज के कोर कॉन्सेप्ट्स को सीखें।
  • आवश्यक सॉफ़्टवेयर को अपने कंप्यूटर पर इनस्टॉल कीजिये।
  • अपना पहला प्रोग्राम बनाये।
  • नियमित रूप से अभ्यास जरुर करें।
  • कोई अच्छे से संस्थान से प्रोग्रामिंग कोर्स कर लीजिये।
  • प्रोग्रामिंग करना कभी भी बंद ना कीजिये।
  • अपना स्वयं का फ्रीवेयर या कमर्शियल प्रोग्राम बनाएँ।
  • फ्रीलांस (Freelance) कार्य कर ऑनलाइन पैसा कमाये।
  • लक्ष्य निर्धारित करें और उन्हें प्राप्त करें।
प्रोग्रामिंग भाषा हमें क्यों सीखना चाहिए? (Why Should We Learn Programming Language?)

दोस्तों, अगर आप सॉफ्टवेयर (Software), वेबसाइट (Website), मोबाईल ऐप्स (Mobile Apps), कंप्यूटर प्रोग्राम (Computer Program), गेम्स (Games) बनाने में रुचि रखते हैं, तो आपको प्रोग्रामिंग (Programming) जरुर सीखना चाहिये। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का प्रयोग करके ही इन्हें बनाया जाता है। प्रोग्रामर (Programmer) एक ऐसा व्यक्ति होता है, जिसे प्रोग्रामिंग भाषाओं (Programming Languages) का अच्छा ज्ञान होता है, जो अपने प्रोग्रामिंग स्किल्स (Programming Skills) का इस्तेमाल कर वास्तविक दुनिया की समस्याएं (Real World Problems) का समाधान करते है, इनके द्वारा बनाये गये सॉफ्टवेयर (Software) का इस्तेमाल हम अपने कंप्यूटर (Computer), मोबाइल फ़ोन (Mobile Phone) या किसी अन्य हार्डवेयर डिवाइस में रोजाना करते है।

Buttonइन्हें भी देखें –

प्रिय पाठकों, मै आशा करता हु की आपको हमारा कंप्यूटर प्रोग्रामिंग क्या है, कैसे सीखें? पर ये पोस्ट काफी पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे जरुर अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। हमने कोशिस किया है की “कंप्यूटर प्रोग्रामिंग क्या है, कैसे सीखें?” की संपूर्ण जानकारी आसान और विस्तृत रूप में वर्णन कर सके। यदि आपको और अधिक जानकारी की आवश्यकता है तो आप यहाँ क्लिक कर पढ़ सकते है अगर आपको कोई भी उलझन हो तो निचे कमेंट कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी. यदि आप हमसे सम्पर्क करना चाहते है या आपके पास कोई सुझाव है तो आप हमसे संपर्क करे। हम आपके सुझाव का स्वागत करते हैं, हमारी यूट्यूब चैनल देखने के लिए यहाँ क्लिक करे

Banana Dancingकृपया ध्यान दें: नीचे दिए गये “Register Now” बटन के माध्यम से आप हमे निशुल्क ज्वाइन कर सकते हैं। नवीनतम जॉब अपडेट पाने के लिए आप हमारे फेसबुक ग्रुप को जॉइन कर सकते हैं और हमारे एंड्रॉइड एप्प को भी डाउनलोड कर सकते हैं। हमारे इस एप्प का उद्देश्य प्रतियोगता परीक्षाओं की तयारी करने वाले छात्रों को नवीन माध्यम द्वारा ज्ञान उपलब्ध करवाना है। जिससे वह अपने मोबाइल द्वारा ही समस्त जानकारी प्राप्त कर सके, आपको हमारा यह प्रयास कैसा लगा, हमें कमेंट में जरूर बताएं।register-button

Dear Visitors, अगर आपके पास कोई ज्ञानवर्धक जानकारी है जिससे आप लोगो के साथ बाँटना चाहते है तो हमसे संपर्क कीजिए हमें ईमेल भेजिए–[email protected] यदि पोस्ट अच्छी हुई तो हम जरूर आपके नाम के साथ उसे प्रकाशित करेंगे।
आशा है आपको ये शानदार पोस्ट पसंद आई होगी। 
इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें, Sharing Button पोस्ट के निचे है।

3 Comments

  1. MOHAMMAD FAISAL 06/12/2017
    • Shivam Pandey 07/12/2017
  2. Udai singh 16/01/2018

Leave a Reply

error: DMCA Protected !!
Download Our AppInstall Now
+