C प्रोग्रामिंग भाषा का परिचय – भाग 1

Last updated on मई 1st, 2018 at 01:11 पूर्वाह्न

सी प्रोग्रामिंग भाषा का परिचय (Introduction to C Programming)

C प्रोग्रामिंग भाषा का परिचय (Overview of C Programming Language)आज हम सीखेंगे सी लैंग्वेज बेसिक्स जैसे की C प्रोग्रामिंग भाषा का परिचय (Overview of C Programming Language), सी प्रोग्रामिंग भाषा का इतिहास (History of C programming language) , सी प्रोग्रामिंग के जनक एवं पिता किसे कहा जाता है? (Who is the Father of C Programming Language), सी प्रोग्रामिंग भाषा की विशेषताएं (Features of ‘C’ programming language) आदि। तो पहला अध्याय शुरू करते हैं। एक उपयुक्त माहौल जहां एक प्रोग्राम कुछ नियम और शर्तों का पालन करते हुए बनाया जाता है, जिसे प्रोग्रामिंग भाषा कहा जाता है। इस माहौल में अंग्रेजी भाषा, दशमलव संख्या प्रणाली और प्रतीकों के माध्यम से कई अर्थपूर्ण स्टेटमेंट्स (वाक्य) लिखे जाते है जिनके द्वारा किसी भी प्रोग्राम का निर्माण होता है। (A suitable atmosphere where a program is created following the certain rules and regulation is called Programming Language. In this atmosphere, several meaningful statements (Sentences) through English Literature, Decimal Number System, and Symbols through which any program is built.)

प्रोग्रामिंग भाषाओं की दो श्रेणियां हैं: –

  • HLL (High-Level Language)
  • 4GL (Fourth Generation Language)

HLL– यह एक सामान्य प्रयोजन उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा है। जहां किसी भी उद्देश्य के लिए एक प्रोग्राम तैयार किया जा सकता है (HLL- It is a general-purpose high-level programming language. Where a program for any purpose can be generated.)

बहुत सारे HLL एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर हैं-

  1. Ancient HLL – Algol, LOGO, ADA, BASIC, COBOL, FORTRAN, PASCAL, PEARL आदि।
  2. Medieval HLL – BCPL, C, CPP, VB, C#, VC आदि।
  3. Modern HLL – Java, Python, PHP, ASP, .Net, SERVLET आदि।

4GL– यह प्रोग्रामिंग भाषा की चौथी पीढ़ी है। यह एक विशेष प्रयोजन प्रोग्रामिंग भाषा है क्योंकि यह डेटा बेस मैनेजमेंट सिस्टम के एक कार्यक्रम को विकसित करने के लिए सक्षम होती है। (4GL- It is the Fourth Generation of the language. This is a special purpose programming language because it is enabled to develop a program of Data Base Management System.)

कुछ सामान्य 4GL एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर निम्नलिखित हैं: –

  1. Ancient 4GL – dBase, FoxBase, Sybase, FoxPro etc
  2. Modern 4GL – FoxPro, Ms-Access, Oracle, SQL etc.

प्रोग्रामिंग भाषा की टर्मिनोलॉजी (Terminology of Programming Language)

एक प्रोग्राम बनाने और इसे ठीक से ऑपरेट करने के लिए सभी आवश्यक कारक को प्रोग्रामिंग टर्मिनोलॉजी कहा जाता है।
एक प्रोग्रामिंग भाषा में 4 टर्मिनोलॉजी होती हैं। (All required factors to make a program and handle it properly is called programming terminology. There are 4 terminologies of a programming language.)

  1. प्रोग्राम (Program) – एक प्रस्ताव या योजना के रूप में बनाया गया निर्देशों का एक संग्रह जो कंप्यूटर द्वारा निष्पादित होने पर विशिष्ट कार्य करता है प्रोग्राम कहलाता है। उदाहरण- साधारण ब्याज, पेरोल मॉनिटरिंग, बिलिंग प्रणाली आदि। (A proposal or plan in against a work is considered as the program. Example- Simple Interest, Payroll Monitoring, Billing System etc.)

2. प्रोग्रामर (Programmer) – एक व्यक्ति, जिसे विभिन्न स्टेटमेंट्स (प्रोग्राम) लिखने की पूरी जानकारी होती है, प्रोग्रामर कहलाता है। (A person who has the complete knowledge to write different statements for generating a program.)

3. प्रोग्रामिंग तकनीक (Programming Technique) – एक प्रोग्राम बनाने के लिए विभिन्न स्टेटमेंट्स लिखने के लिए एक निश्चित मानदंड के तहत एक उपयुक्त तकनीक। आईटी-सेक्टर में कुल चार मानक प्रोग्रामिंग तकनीकें हैं। (A suitable mechanism under a certain norms for writing the statements to build a program. There are total four standard programming techniques in IT-Sector. )

  • Unstructured/Linear Programming Technique (BASIC)
  • Structured/Procedural Programming Technique (COBOL)
  • Modular Programming Technique (VB)
  • OOPS Programming Technique (C++)

4. प्रोग्रामिंग वातावरण (Programming Atmosphere) – HLL या 4GL के रूप में एक उपयुक्त वातावरण जहां कई स्टेटमेंट्स के द्वारा एक प्रोग्राम को बनाया जाता है। उदाहरण- कोबोल, सी, जावा आदि। (A suitable environment as HLL or 4GL where several statements are gathered to build a program. Example-Cobol, C, Java etc.)

सी प्रोग्रामिंग भाषा (C Programming Language)

  • C एक उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा है क्योंकि अंग्रेजी साहित्य, दशमलव संख्या प्रणाली और प्रतीकों के साथ किसी भी प्रोग्राम को यहां लिखा जाता है। (C is a high-level programming language because with the English Literature, Decimal Number System & Symbols any program is written here.)
  • C को मध्य स्तर की प्रोग्रामिंग भाषा भी कहा जाता है क्योंकि यह दुनिया की पहली ऐसी प्रोग्रामिंग भाषा थी जो सिस्टम सॉफ्टवेयर प्रोग्राम और एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर प्रोग्राम दोनों को एक ही प्लेटफार्म पर विकसित कर सकता है। (C is also called middle-level programming language because it is only that language of the world. Which can develop both System Software Program and Application Software Program on the same platform first of all. )

सी प्रोग्रामिंग भाषा का इतिहास (History of C programming language)

सी भाषा को 1972 ईस्वी में अमेरिका के एटी एंड टी (अमेरिकन टेलिफोन एंड टेलीग्राफ कंपनी) कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में डार्टमाउथ कॉलेज के बेल लेबोरेटरीज में डेनिस रिची के द्वारा विकसित की गई थी। (C language is developed by Mr. Dennis Ritchie at AT & T
(American Telephone & Telegraph Company) Bell Laboratories of Dartmouth College in Cambridge University. Of America in 1972 AD.)

सी प्रोग्रामिंग भाषा की विशेषताएं (Features of C programming language)

  • C एक केस सेंसिटिव प्रोग्रामिंग भाषा है (अपरकेस और लोअरकेस में अंतर) इसलिए सी प्रोग्रामिंग के सभी प्रीडिफाइंड प्रॉपर्टीज केवल लोअरकेस में ही लिखे जाने चाहिए। उदाहरण: int, main, printf, scanf, if, आदि। (C is a Case Sensitive Programming Language (Difference between Uppercase and Lowercase) therefore all predefined properties of c programming must be written only in lowercase. Example: int, main, printf, scanf, if, for etc.)
  • C भाषा में प्रत्येक स्टेटमेंट को विशेष प्रतीक सेमीकॉलन द्वारा समाप्त किया जाना चाहिए ; (टर्मिनेटर)। (Every statement in c language must be terminated by a special symbol Semicolon ; (Terminator).)
  • C भाषा बीसीपीएल भाषा / बी भाषा (बेसिक कंबाइंड प्रोग्रामिंग भाषा) का विकसित रूप है। (C language is the developed form of BCPL Language/ B Language (Basic Combined Programming Language).
  • C एक सामान्य प्रयोजन वाला संयुक्त प्रोग्रामिंग भाषा है, जिससे वह विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर (सिस्टम और एप्लीकेशन) को विकसित कर सकता है। (C is a general-purpose combined programming language so it can develop different kinds of work.)
  • C प्रोग्रामिंग वातावरण में 3 प्रकार की फाइल नाम उत्पन्न किए जाते हैं: (In c programming atmosphere 3 kinds of files name been generated.)
    1. स्रोत फ़ाइल: प्रोग्राम डिकोडिंग के बाद। उदाहरण: wikihelp.c (wikihelp प्राथमिक नाम है और .c माध्यमिक नाम है)। Source File: After decoding the program. Example: wikihelp.c (wikihelp is the primary name and .c is the secondary name)
    2. ऑब्जेक्ट फ़ाइल: यह कंपाइलेशन प्रक्रिया के बाद बनाई जाती है (कोडिंग को मशीन भाषा में परिवर्तित करना) उदाहरण: wikihelp.obj । (Object File: It is created after compilation process in c (Convert the coding into Machine language) example: wikihelp.obj)
    3. एक्सीक्यूट अबल फ़ाइल: जब प्रोग्राम सफलतापूर्वक निष्पादित हो जाता है जिसे रिजल्ट या आउटपुट फ़ाइल कहा जाता है। उदाहरण: wikihelp.exe । (Executable File: When the program is executed successfully that is called Result or Output file. Example: wikihelp.exe)
  • बाजार में C भाषा के तीन मानक प्रकार के सॉफ़्टवेयर उपलब्ध हैं। (There are three standard kinds of software of c language in the market.)
    1. टर्बो सी (Turbo C)
    2. ANCI सी (ANSI C)
    3. बोरलैंड सी (BORLAND C)
  • टर्बो सी सॉफ्टवेयर के 3 संस्करण उपलब्ध हैं। (There are 3 versions of Turbo C software.)
    1. टर्बो सी 2 (केवल सी के लिए) [Turbo C2 (Only for C)]
    2. टर्बो सी 3 (सी और सी ++) [TURBO C3 ( C & C++)]
    3. डॉसबॉक्स टर्बो सी (विंडोज 7,8,8.1 और 10) [DOSBox Turbo C (Windows 7,8,8.1 & 10)]
  • • C प्रोग्रामिंग वातावरण में केवल 32 कीवर्ड होते हैं। (In C Programming environment there are 32 keywords only.)

Buttonइन्हें भी देखें –

निष्कर्ष (Conclusion)

नमस्कार दोस्तों, आपका हमारे C प्रोग्रामिंग के कम्पलीट कोर्स में स्वागत है, पहली बात ये है की हमे ऐसा लगता है की हमारे देश में बहुत से  लोगो ने अपनी प्राथमिक शिक्षा हिंदी भाषा में की है यानि अपनी मातृ भाषा में कड़ी है। इसके कारण वश उन्हें बहुत दिकत झेलनी परती है, जब वह एक तकनीकी कोर्स करते है। हम नही चाहते की भाषा की वजह से लोग पीछे रह जाये प्रोग्रामिंग आगे आने वाले समय में बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाएगी उतनी ही महत्वपूर्ण जितना लिखना और बोलना जरूरी है। यह कोर्स हमारा एक प्रयास है, एक प्रयोग है की हम अपनी मातृ भाषा हिंदी में एक उच्च कोटि का दसा बनाये इसके लिए मैंने बहुत मेहनत कड़ी है और आपको हमारी ये मेहनत इस कोर्स में जरुर दीखेगी। अगर हमने ये कोर्स हिंदी में बनाया है, इसका ये मतलब नही की हमने इसमें कुछ कमी रखी है बल्कि हमने इसके अंदर बहुत ज्यादा एनीमेशन, चलचित्र वगेरा डाले है। जिसकी मदद से आप विभिन्न प्रकार के कांसेप्ट या लॉजिक्स की मानिसक छवि बना पाएंगे। एक आखरी बात कई लोग आपसे कहेंगे की C प्रोग्रामिंग भाषा काफी पुरानी हो गयी है, पीछले 2-3 दसको से इसे इस्तेमाल किया जा रहा है लेकिन मैं आपको ये बता दू की C प्रोग्रामिंग भाषा आज भी उतनी ही उपयुक्त है जितनी वह 10 साल पहले थी और उसका एक बहुत बड़ा कारण है। एक नया उभरता हुआ क्षेत्र जिसे हम बोलते है IOT (इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स ) इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स के अंदर हम आज अपना सबसे ज्यादा काम C भाषा के अंदर कर रहे है, और एक और बात C भाषा बहुत सारी और भाषाओ का जो प्रोग्रामिंग की भाषा है जैसे C++ , Java उन सब की नींव भी C में रखी गयी थी। अर्थात अगर आपको प्रोग्रामिंग में अपना करियर बनाना है तो C भाषा आपको अच्‍छी तरह से सीखना बहुत जरूरी है। क्यंकि प्रोग्रामिंग इंटरव्यूज में अधिकतर सवाल C/C++ भाषा पर ही आधारित होती हैं। इसलिए इन दो भाषाओं को अच्छी तरह से जानें क्योंकि वास्तव में, ज्यादातर लोगों का केवल अनुमान है कि वे C/C ++ भाषा जानते है और इस भ्रम में वह शून्य पर समाप्त हो जाते है।

कृपया ध्यान दें: नीचे दिए गए बटन के माध्यम से आप हमारी फेसबुक ग्रुप को जॉइन और हमारे एंड्रॉइड एप्प फ्री डाउनलोड कर सकते है। हमारे इस एप्प का उद्देश्य प्रतियोगता परीक्षाओं की तयारी करने वाले छात्रों को नवीन माध्यम द्वारा ज्ञान उपलब्ध करवाना है। जिससे वह अपने मोबाइल द्वारा ही समस्त जानकारी प्राप्त कर सके, आपको हमारा यह प्रयास कैसा लगा हमें जरूर बताएं।

Dear Visitors, अगर आपके पास कोई ज्ञानवर्धक जानकारी है जिससे आप लोगो के साथ बाँटना चाहते है तो हमसे संपर्क कीजिए हमें ईमेल भेजिए–[email protected] यदि पोस्ट अच्छी हुई तो हम जरूर आपके नाम के साथ उसे प्रकाशित करेंगे।
आशा है आपको ये शानदार पोस्ट पसंद आई होगी. 
इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें, Sharing Button पोस्ट के निचे है।

Leave a Reply

error: DMCA Protected !!
Download Our AppInstall Now
+