डाटा स्ट्रक्चर क्या है? (जानिये हिंदी में)

डाटा स्ट्रक्चर का परिचय (Introduction to Data Structure)

डाटा स्ट्रक्चर क्या है (What is Data Structure in Hindi)आज हम सीखेंगे की डाटा स्ट्रक्चर क्या है? (What is Data Structure in Hindi), डेटा स्ट्रक्चर के प्रकार इन हिंदी (Types of Data Structure in Hindi) डाटा को व्यवस्थित (Organize) करने के कई तरीके होते हैं, डाटा को व्यवस्थित करने के लॉजिकल (Logical) या गणितीय (Mathematical) मॉडल को भी डाटा स्ट्रक्चर कहा जा सकता है। सरल शब्दों में, डाटा स्ट्रक्चर एक कंप्यूटर सिस्टम में डाटा भंडारण करने और व्यवस्थित करने का एक तरीका है। ताकि हम आसानी से डाटा का उपयोग कर सकें। डाटा स्ट्रक्चर इतनी सरल होनी चाहिए कि कोई भी कंप्यूटर प्रोग्रामर को किसी भी प्रोग्रामिंग भाषा में कोडिंग लिखकर डेटा को आसानी से संसाधित कर सकते हैं।

  • एल्गोरिथम (Algorithm): एल्गोरिथ्म एक प्रक्रिया है जो कंप्यूटर को एक समस्या हल करने की अनुमति देती है। अर्थात, यह एक समस्या का समाधान या विशेष रूप से कंप्यूटर द्वारा कुछ कार्य पूरा करने के लिए नियमों का एक समूह होता है। आपके कंप्यूटर द्वारा निष्पादित सभी कार्यों में एल्गोरिदम शामिल हैं, यह कुछ भी हो सकता है। यह एक समस्या हल करने के लिए एक कदम दर कदम प्रक्रिया होती है, जो कम से कम कंप्यूटर मेमोरी और प्रोसेसर का उपयोग करके समस्या को कम से कम समय में हल दे सके।

डेटा स्ट्रक्चर के प्रकार (Types of Data Structure)types of data structure in hindi

  • प्रिमिटिव डाटा स्ट्रक्चर (Primitive Data Structure): प्रिमिटिव डाटा स्ट्रक्चर ऐसी डेटा संरचना है जो कंप्यूटर द्वारा दिये गये निर्देशों (Instructions) से सीधे संचालित (Operate) किया जा सकते है।

प्रिमिटिव डाटा स्ट्रक्चर के प्रकार निम्नानुसार हैं:

  1. इन्टिजर (Integer): इसमें दशमलव के अलावा अन्य सभी संख्याएं हैं, इन्टिजर डिफाइन करने के लिए int का प्रयोग किया जाता है। उदाहरण- int a =7;
  2. करैक्टर (Character): करैक्टर का उपयोग C भाषा में एक अल्फ़ाइबेट को डिफाइन करने के लिए किया जाता है।
    करैक्टर डिफाइन करने के लिए char का प्रयोग किया जाता है तथा उस करैक्टर को ”(Single Quote) में डाला जाता हैं। उदाहरण- char ‘x’
  3. डबल (Double): डबल एक मूलभूत डेटा प्रकार है जिसे कंपाइलर में बनाया गया है और दशमलव अंकों के साथ संख्या वाले संख्यात्मक वेरिएबल्स को डिफाइन करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  4. फ्लोट (Float): दशमलव संख्या को फ्लोट में डिफाइन किया जाता है। फ्लोट में इन्टिजर का मान भी डिफाइन होता है
    किसी भी संख्या को फ्लोट में डिफाइन करने के लिए float का प्रयोग किया जाता है। उदाहरण- float a =4.2;
  5. स्ट्रिंग (String): करैक्टर्स के समूह को स्ट्रिंग कहा जाता है। स्ट्रिंग को डिफाइन करने के लिए string का प्रयोग किया जाता है और स्ट्रिंग को “Double Quote” में डाला जाता है। उदाहरण- string “shivam
  • नॉन प्रिमिटिव डाटा स्ट्रक्चर (Non-Primitive Data Structure): नॉन प्रिमिटिव डाटा स्ट्रक्चर ऐसी डेटा संरचना है जो कंप्यूटर द्वारा दिये गये निर्देशों (Instructions) से सीधे संचालित (Operate) नहीं किया जा सकता है। यह प्रिमिटिव डेटा संरचना से ली गई हैं। यह समान (Homogeneous) और अलग-अलग प्रकार के डाटा आइटम को एक समूह में रखते हैं। उदाहरण- Array , Stack , Graph आदि।

नॉन प्रिमिटिव स्ट्रक्चर के प्रकार निम्नानुसार हैं:

  1. लीनियर डाटा स्ट्रक्चर (Linear Data Structure): लीनियर डाटा स्ट्रक्चर एक डेटा संरचना है जिसमें डेटा आइटम को रैखिक रूप में संग्रहीत और व्यवस्थित किया जाता है, जिसमें डेटा आइटम एक रेखा के रूप में दूसरे से जुड़ा होता है। इसके अंदर Array , Stack , Queue , linked lists आते हैं।
  2. नॉन लीनियर डेटा स्ट्रक्चर (Non-Linear Data Structure) : नॉन लीनियर डेटा स्ट्रक्चर एक डेटा संरचना है जिसमें डाटा आइटम्स को क्रमबद्ध (Sequential) तरीके से व्यवस्थित नहीं किए जाता है। इसमें एक डेटा आइटम किसी अन्य डाटा आइटम से जुड़ा हो सकते हैं। जैसे:- Tree, Graph आदि।

डेटा स्ट्रक्चर संचालन (Data Structure Operations)

  1. ट्रेवर्सिंग (Traversing): डेटा की संरचना में किसी भी रिकॉर्ड को एक्सेस करना या विज़िट को ट्रैविसिंग कहा जाता है।
  2. सर्चिंग (Searching): डेटा संरचना में रिकॉर्ड के स्थान को खोजना सर्चिंग कहा जाता है।
  3. इंसेरटिंग (Inserting): डेटा संरचना में एक नया रिकॉर्ड जोड़ना इंसेरटिंग कहा जाता है।
  4. डिलीटिंग (Deleting): डेटा संरचना में एक रिकॉर्ड को हटाना डिलीटिंग कहा जाता है।
  5. सॉर्टिंग (Sorting): डेटा संरचना में किसी रिकॉर्ड को लॉजिकल क्रम में व्यवस्थित करना सॉर्टिंग कहा जाता है।
  6. मर्जिंग (Merging): डेटा संरचना में, जो रिकॉर्ड दो अलग- अलग फाइलों में संग्रहित होते है उसे एक सिंगल फाइल में जोड़ने को मर्जिंग कहा जाता है।
डाटा स्टोरेज यूनिट (Data Storage Units)

किसी कंप्यूटर या डिवाइस के द्वारा उपयोग के लिए विद्युत चुम्बकीय या अन्य रूपों में डेटा का भंडारण किया जाता है, हम डाटा स्टोरेज डिवाइस जैसे की हार्ड डिस्क, पेन ड्राइव, मेमोरी कार्ड, ऑप्टिकल डिस्क आदि में डाटा का भंडारण करते है। मेमोरी यूनिट कंप्यूटर में डाटा के भंडारण की इकाई है।

एक प्रणाली को बाइनरी डेटा संग्रहीत करने के लिए बनाया गया है, जिसमें सबसे छोटा इकाई बिट है।

NameEqual to:Size in Bytes
Bit1 bit1/8
Nibble4 bits1/2 (rare)
Byte8 bits1
Kilobyte1,024 bytes1,024
Megabyte1,024 kilobytes1,048,576
Gigabyte1,024 megabytes1,073,741,824
Terrabyte1,024 gigabytes1,099,511,627,776
Petabyte1,024 terrabytes1,125,899,906,842,624
Exabyte1,024 petabytes1,152,921,504,606,846,976
Zettabyte1,024 exabytes1,180,591,620,717,411,303,424
Yottabyte1,024 zettabytes1,208,925,819,614,629,174,706,176

Buttonइन्हें भी देखें –

प्रिय पाठकों, मै आशा करता हु की आपको हमारा डाटा स्ट्रक्चर क्या है? पर ये पोस्ट काफी पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे जरुर अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। हमने कोशिस किया है की डाटा स्ट्रक्चर क्या है? की संपूर्ण जानकारी आसान और विस्तृत रूप में वर्णन कर सके। यदि आपको और अधिक जानकारी की आवश्यकता है तो आप यहाँ क्लिक कर पढ़ सकते है अगर आपको कोई भी उलझन हो तो निचे कमेंट कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी. यदि आप हमसे सम्पर्क करना चाहते है या आपके पास कोई सुझाव है तो आप हमसे संपर्क करे। हम आपके सुझाव का स्वागत करते हैं, हम जल्द ही इसकी मोबाइल-एप्प भी आप तक लाने का प्रयास करेंगे। हमारी यूट्यूब चैनल देखने के लिए यहाँ क्लिक करे |

Dear Visitors, अगर आपके पास कोई ज्ञानवर्धक जानकारी है जिससे आप लोगो के साथ बाँटना चाहते है तो हमसे संपर्क कीजिए हमें ईमेल भेजिए–[email protected] यदि पोस्ट अच्छी हुई तो हम जरूर आपके नाम के साथ उसे प्रकाशित करेंगे।

आशा है आपको ये शानदार पोस्ट पसंद आई होगी. 
इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें, Sharing Button पोस्ट के निचे है।

Join Our Hindi Community of 5,00,000+ Readers!

सब्सक्राइब करें और अपने इनबॉक्स में अपडेट प्राप्त करें।

सदस्यता लेने के लिए धन्यवाद।

कुछ गलत हो गया।

पेन ड्राइव को बूटेबल कैसे बनाये (How to Make Bootable USB Pendrive)
पेन ड्राइव को बूटेबल कैसे बनाये – जानें हिन्दी मे
कंप्यूटर हार्डवेयर ऑनलाइन टेस्ट (Computer Hardware Online Test) - Free
कंप्यूटर हार्डवेयर ऑनलाइन टेस्ट | Quiz | Exam
प्रिंटर क्या है और उसके प्रकार (What is Printer and Types of Printer)
प्रिंटर क्या है और उसके प्रकार – जाने हिन्दी मे
Computer Assemble कैसे करे (How to Assemble a Computer)
Computer Assemble कैसे करे? विस्तार से जानिए
error: DMCA Protected !!