इनपुट और आउटपुट डिवाइस क्या है (I/O Device)? – जाने हिंदी में

इनपुट और आउटपुट डिवाइस क्या है (IO Device) – जाने हिंदी मेंआज हम जानेंगे की इनपुट और आउटपुट डिवाइस क्या है? हमे कंप्यूटर से संचार करने के लिए I / O डिवाइस की आवश्यक होती है। जैसा की हम जानते है की इनपुट / आउटपुट (I / O) डिवाइस एक हार्डवेयर डिवाइस होता है जिसमें इनपुट, आउटपुट या अन्य संसाधित डेटा को स्वीकार करने की क्षमता होती है।कंप्यूटर हार्डवेयर डिवाइसेस को उपयोगकर्ता द्वारा देखा और छुआ जा सकता है। इन हार्डवेयर उपकरणों के उपयोग से, कंप्यूटर के लिए डेटा प्राप्त करना, उन्हें स्टोरेज मीडिया के रूप स्टोर करना और पुनः प्राप्त करने की प्रक्रिया को बहुत आसान बना दिया गया। हार्डवेयर कंप्यूटर सिस्टम के मूल और आवश्यक भागों में से एक है कंप्यूटर हार्डवेयर में कम्युनिकेशन बस, पोर्ट्स , इनपुट डिवाइस, आउटपुट डिवाइस आदि शामिल हैं। तो आये इनपुट और आउटपुट डिवाइस क्या है? कंप्यूटर में इनपुट आउटपुट डिवाइस कौन कौन से है? उनके बारे में जानकारी चलिए विस्तार से जानते है।

इनपुट डिवाइस क्या है? (What is an Input Device?)

इनपुट डिवाइस को इलेक्ट्रो मैकेनिकल डिवाइस के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जो उपयोगकर्ता को कंप्यूटर में डेटा इनपुट करने में मदद करती है जैसे कीबोर्ड पर कीस्ट्रोक्स कर और माउस के साथ क्लिक कर हम कंप्यूटर में डाटा इनपुट करते है। डेटा इनपुट डिवाइस के माध्यम से मुख्य मेमोरी में दर्ज किया जाता है। वे उपयोगकर्ता से निर्देश स्वीकार करते हैं और स्वीकृत निर्देश को मशीन भाषा में परिवर्तित करती हैं।
कुछ इनपुट डिवाइस के उदाहरण निम्नलिखित हैं:

  • Keyboard (की-बोर्ड): यह एक इनपुट डिवाइस है जो उपयोगकर्ता को वर्णमाला (Alphabets), संख्याओं (Numbers)और अन्य वर्णों (Characters) को इनपुट करने की अनुमति देता है। यह एक बोर्ड होता है जिसपे बटन्स का सेट होता है जिसके द्वारा कीबोर्ड के बटनो का एक सेट दबाकर कंप्यूटर में डाटा इनपुट करने का एक प्राथमिक उपकरण है। कीबोर्ड दो प्रकार के होते है General Purpose Keyboard और Special Purpose Keyboard
    सामान्य तौर पर, एक कंप्यूटर कीबोर्ड में निम्नलिखित कुंजी (Keys) होते हैं:
    (1) Alphanumric Keys: इसमें अक्षर (Letters)और संख्याएं (Numbers) शामिल होती हैं
    (2) Punctuation Keys: इसमें अल्पविराम (Comma), अवधि (Period), अर्धविराम (Semicolon), आदि और विशेष कुंजी (Special Keys) शामिल होते हैं: ये फ़ंक्शन कुंजियां (Function Keys), नियंत्रण कुंजियाँ (Control Keys), तीर कुंजियां (Arrow Keys) और कैप्स लॉक (Caps Lock Keys) आदि होती हैं।
  • Mouse (माउस): माउस एक छोटा इनपुट डिवाइस है जिसका उपयोग स्क्रीन पर एक विशेष स्थान पर पॉइंट करने तथा नेविगेशन करने के लिए किया जाता है और इसका इस्तेमाल एक या एक से अधिक कार्यों को चयन करने के लिए भी किया जाता है जैसे यह मेनू कमांड (Menu Commands), प्रोग्राम शुरू करने (Start Programs), आदि का चयन करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • Trackball (ट्रैकबॉल): ट्रैकबॉल एक स्थाई डिवाइस पर घुमाए जाने योग्य गेंद होता है, जो उंगलियों का उपयोग करके मैन्युअल रूप से घुमाया जाता है. यह एक पॉइंटिंग डिवाइस भी है। इन्हें वीडियो गेम खेलने में उपयोग किया जाता हैं।
  • Joystick (जॉयस्टिक): जॉयस्टिक एक इनपुट डिवाइस है जो एक खड़ी छड़ी जैसी आकृति वाला डिवाइस होता है जिसकी सहायता से हम कर्सर को किसी भी दिशा में मूव करते है। आमतौर पर इसके शीर्ष पर एक बटन होता है जिसका उपयोग कर्सर द्वारा इंगित किया गया विकल्प का चयन करने के लिए किया जाता है। जॉयस्टिक को मुख्य रूप से वीडियो गेम, प्रशिक्षण सिमुलेटर और रोबोट को नियंत्रित करने के लिए उपयोग किए जाने वाले एक इनपुट डिवाइस के रूप में उपयोग किया जाता है।
  • Light Pen (प्रकाशीय पेन): यह एक इलेक्ट्रो-ऑप्टिकल पॉइंटिंग डिवाइस है, जिसका उपयोग ड्राइंग, ग्राफिक्स और मेनू चयन के लिए किया जाता है। पेन में एक छोटी ट्यूब में एक फोटोसेल होता है। इसमें लगे हुए फोटोसेल के द्वारा यह लाइट को सेन्स कर लेता है और जब ये स्क्रीन के करीब आता है तब यह एक पल्स (Pulse) उत्पन्न करता है इसका उपयोग विशेष रूप से Personal Digital Assistants (PDA) में किया जाता है यह स्क्रीन पर एक विशिष्ट स्थान की पहचान करने में बहुत उपयोगी होता है। हालांकि, स्क्रीन के किसी रिक्त भाग पर यह किसी भी तरह की जानकारी प्रदान नहीं करता है।
  • Barcode Reader (बारकोड रीडर): बारकोड रीडर को बारकोड से डेटा इनपुट करने के लिए उपयोग किया जाता है। दुकानों और माल्स में अधिकांश उत्पाद पर बारकोड होता हैं बारकोड रीडर के द्वारा बारकोड लाइनों पर प्रकाश की बीम मारकर बारकोड में मौजुद डाटा का पता लगाया जाता हैं।
  • Graphics Tablet (ग्राफिक्स टेबलेट) : ग्राफिक्स टैबलेट एक कंप्यूटर इनपुट डिवाइस है जिसका इस्तेमाल चित्र और ग्राफिक्स को हाथ से चित्रकारी करने की अनुमति देता है, जिस तरह से एक पेंसिल और पेपर के साथ चित्र खींचते है ठीक उसी तरह ग्राफिक्स टैबलेट के द्वारा उस चित्र और ग्राफिक्स को इनपुट के रूप में कंप्यूटर में लिया जाता है। हस्तलिखित हस्ताक्षरों के डेटा को प्राप्त करने के लिए ये डिवाइस उपयोग में ली जाती हैं। कुछ टैबलेटों को माउस की तरह नेविगेशन उपकरण के रूप में उपयोग किया जाता है। इनका इस्तेमाल डिजाइन, प्रयोजनों, जैसे इमारतों, कारों, यांत्रिक भागों, रोबोट आदि के लिए Computer Aided Design (CAD) में आर्किटेक्ट, इंजीनियरों और डिजाइनरों द्वारा किया जाता है। इन्हें नक्शे के डिजिटलीकरण अर्थात्  ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (GPS) में भी इस्तेमाल किया जाता है।
  • Biometric Sensor (बायोमेट्रिक सेंसर): यह एक इनपुट डिवाइस है जो व्यक्ति के शारीरिक (Physical) या व्यवहारिक (Behavioural) लक्षणों को बॉयोमीट्रिक सेंसर के द्वारा पहचानता है। इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से सुरक्षा उद्देश्यों के लिए और संस्थाओं में कर्मचारियों / छात्रों की उपस्थिति के लिए उपयोग किया जाता है। चूंकि बॉयोमीट्रिक सेंसर सटीकता के साथ काम कर रहे हैं इसलिए इन्हें सुरक्षा उद्देश्य में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।
  • Scanner (स्कैनर): स्कैनर एक इनपुट डिवाइस है जिसका इस्तेमाल दस्तावेज़ से कंप्यूटर सिस्टम में प्रत्यक्ष डेटा प्राप्ति के लिए किया जाता है। यह दस्तावेज़ छवि को डिजिटल रूप में परिवर्तित कर देता है ताकि इसे कंप्यूटर में इसे स्टोर (Store) या डाटा को संपादित (Edit) किया जा सके। इस तरह की जानकारी कैप्चर करने में त्रुटियों की संभावना कम हो जाती है, जो आम तौर पर बड़ी डेटा प्रविष्टि के दौरान अनुभव होती है।
  • Webcam (वेबकैम): यह एक वीडियो कैप्चरिंग डिवाइस है वेबकैम कंप्यूटर से जुड़ा एक डिजिटल कैमरा होता है और इसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग या ऑनलाइन चैटिंग आदि के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। आजकल, वेबकैम या तो लैपटॉप कंप्यूटर के साथ डिस्प्ले में एम्बेडेड होते हैं या कंप्यूटर पर यूएसबी या फायरवायर पोर्ट या वाई-फाई के माध्यम से जुड़े होते हैं।
  • Microphone (माइक्रोफ़ोन): हम माइक्रोफोन या माइक नामक इनपुट डिवाइस के माध्यम से कंप्यूटर पर इनपुट ध्वनि के माध्यम से भेज सकते हैं एक माइक प्राप्त ध्वनि को कंप्यूटर के स्वरूप में परिवर्तित करता है, जिसे डिजिटल ऑडियो कहा जाता है ध्वनि रिकॉर्ड करने के लिए एक कंप्यूटर से एक माइक्रोफ़ोन को जोड़ा जाता है। आजकल, माइक्रोफोन भी स्पीच मान्यता सॉफ्टवेयर के साथ उपयोग किए जा रहे हैं इसका मतलब यह है कि हमें टाइप करने की ज़रूरत नहीं है, बल्कि केवल बोलना है और बोली जाने वाली शब्द हमारे दस्तावेज़ में दिखाई देते हैं। जिसे हम The Speech Input Device के नाम से जानते हैं।

आउटपुट डिवाइस क्या है? (What is an Output Device?)

आउटपुट डिवाइस कंप्यूटर हार्डवेयर का एक मुख्य पार्ट है, जब हम कंप्यूटर को इनपुट डिवाइस के द्वारा जो इनपुट देते है वो डाटा प्रोसेसिंग के बाद हमे जो परिणाम मतलब जो रिजल्ट प्राप्त होता है वो आउटपुट डिवाइस के ही द्वारा हमे प्राप्त होता है। मनुष्य के लिए सबसे अधिक कंप्यूटर डेटा आउटपुट ऑडियो या वीडियो के रूप में है इस प्रकार, मानव द्वारा उपयोग किए जाने वाले अधिकांश आउटपुट डिवाइस इन श्रेणियों में हैं उदाहरणों में मॉनिटर, प्रोजेक्टर, स्पीकर, हेडफ़ोन, और प्रिंटर शामिल हैं। हम आउटपुट को कंप्यूटर के मॉनीटर पर देखा, स्पीकर के माध्यम से सुन , प्रिंटर पर प्रिन्ट कर सकते है, इत्यादि
कुछ आउटपुट डिवाइस के उदाहरण निम्नलिखित हैं:

  • Monitor (मॉनिटर): मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस है जो टीवी स्क्रीन के समान होती है और जानकारी प्रदर्शित करने के लिए Cathode Ray Tube (CRT) का उपयोग करती है। मॉनिटर CPU के साथ मैन्युअल जुड़ा हुआ होता है और जानकारी को प्रदर्शित करता है जैसा कि हम जानते है की यह प्रोग्राम या ऐप्लिकेशन आउटपुट को भी प्रदर्शित करता है टेलीविजन की तरह, मॉनिटर विभिन्न आकारों में भी उपलब्ध हैं।
    Liquid Crystal Display (LCD): एलसीडी को 1970 के दशक में पेश किया गया था औ। कम ऊर्जा खपत इसका लाभ और छोटे और हल्का आकार का होने के कारण इसे पोर्टेबल कंप्यूटर (लैपटॉप) में भी उपयोग किया जाने लगा । Light Emitted Diode (LED) एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो प्रकाश का उत्सर्जन करता है, जब विद्युत प्रवाह उसके माध्यम से होके गुज़रता है ये लाइट पैदा करता है। LED आमतौर पर लाल बत्ती का उत्पादन करती है, लेकिन आज के LEDs RGB (लाल, हरा और नीला) प्रकाश, और साथ में सफेद रोशनी भी पैदा कर सकते है। Thin Film Transistor (TFT) और Active Matrix LCD (AMLCD) सक्रिय मैट्रिक्स डिस्प्ले के साथ एक लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले (LCD) है, प्रत्येक पिक्सेल को एक से चार ट्रांजिस्टर द्वारा नियंत्रित किया जाता है जो कि स्क्रीन को तेज बना सकते हैं उज्ज्वल, अधिक रंगीन और विभिन्न कोणों पर देखा जा सकने वाला। इस तकनीक की वजह से, Active Matrix Screen अक्सर अधिक महंगा है लेकिन Passive Matrix Display की तुलना में इसकी बेहतर गुणवत्ता होती है।
  • Printer (प्रिंटर): प्रिंटर का उपयोग मुखय रूप से सॉफ्टकॉपी को हार्डकॉपी में बदलने के लिए किया जाता है। प्रयुक्त तकनीक के आधार पर, उन्हें Impact या Non-Impact Printer के रूप में वर्गीकृत किया जाता है।
    इम्पैक्ट प्रिंटर टाइपराइटिंग प्रिंटिंग तंत्र का उपयोग करते हैं जिसमें एक हथौड़ा आउटपुट उत्पादन के लिए एक रिबन के माध्यम से पेपर पर हमला करता है। डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर इस श्रेणी में आते हैं। नॉन इंपैक्ट प्रिंटर कागज छपाई करते समय पेपर नहीं छूते। वे कागज पर प्रतीकों को लाने के लिए रासायनिक, गर्मी या विद्युत संकेतों का उपयोग करते हैं। Inkjet Printer, Deskjet Printer, Laser Printer, Thermal Printer इस श्रेणी में आते हैं।
  • Plotter (प्लॉटर): यह एक आउटपुट डिवाइस है जो वेक्टर ग्राफिक्स बनाने के लिए पेन, पेंसिल, मार्कर या अन्य लेखन टूल का उपयोग करता है। जैसे प्रिंटर का इस्तेमाल हम डाक्यूमेंट्स या छवियां के प्रिंट्स निकलने में करते है, वैसे ही प्लॉटर का इस्तेमाल आकार में बड़े छवियां को कागज पर प्रिन्ट निकलने में करता है वे मुख्य रूप से बड़े चित्र या छवियों जैसे कि निर्माण योजनाएं, मैकेनिकल ऑब्जेक्ट्स, AUTOCAD, CAD/CAM, इत्यादि के लिए ब्लूप्रिंट्स का उत्पादन करने के लिए उपयोग किया जाता है।
    आम तौर पर प्लॉटर सामान्य रूप से दो डिज़ाइन में आते हैं:
    Flat Bed Plotter यह आकार में छोटा तथा इसे आसानी से टेबल पे रख कर भी काम किया जा सकता है मगर इसमें पेपर की लंबाई सीमित होती है इन्हें छोटा आकार इसलिए दिया जाता है ताकि इसका उपयोग घर और ऑफिस में आसानी से हो सके। Drum Plotter इसमें असीमित लंबाई के पेपर के रोल का उपयोग होता है और ये आकार में बहुत बड़े होते हैं।
  • Speaker (स्पीकर): यह एक आउटपुट डिवाइस है जो विद्युत धारा के रूप में ध्वनि प्राप्त करता है। इसे एक सीपीयू से जुड़ा साउंड कार्ड की आवश्यकता होती है, जो एक कार्ड के माध्यम से ध्वनि उत्पन्न करता है इन्हें संगीत सुनने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • Headphones (हेडफोन): यह छोटे लाउडस्पीकरों की एक जोड़ी होती है ज सामान्य रूप किसी उपयोगकर्ता के कान के पास आयोजित होता है और एक म्यूजिक प्लेयर, रेडियो, सीडी प्लेयर या पोर्टेबल मीडिया प्लेयर जैसे स्रोत से जुड़ा होता है। इन्हें Stereophone या Headset के रूप में भी जाना जाता हैं।
  • Projector (प्रोजेक्टर): यह एक आउटपुट डिवाइस है, जिसका उपयोग किसी कंप्यूटर से बड़ी स्क्रीन पर जानकारी प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है, इसलिए इसका उपयोग लोगों के एक बड़े समूह को जानकारी प्रदर्शित करने के लिए व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है बड़े दर्शकों के समूह साथ ही कक्षा प्रशिक्षण या सम्मेलन में इसका उपयोग किया जाता है यह एक अस्थायी आउटपुट डिस्प्ले प्रदान करता है। प्रोजेक्टर निम्नलिखित प्रकार के होते हैं : 1. DLP (Digital Light Processing) 2. LCD (Liquid Crystal Display) 3. LED (Light Emitting Diode)

मल्टीफंक्शनल डिवाइस क्या है? (What is Multifunction Device (MFD)?)

मल्टीफंक्शनल डिवाइस (MFD) एक ऐसा उपकरण है जो कि इनपुट और आउटपुट दोनों प्रकार के कार्य कर सकता है इनमे कई तरह के फ़ंक्शंस होते हैं। उदाहरण के लिए Multi Function printer जो प्रिंटर और स्कैनर दोनों ही तरह के कार्य कर सकता हैं। Fax Machine, Modem और  ATM Machine आदि इसके उदाहरण हैं।

newइन्हें भी देखें –

निष्कर्ष (Conclusion)

प्रिय पाठकों, मै आशा करता हु की आपको हमारा इनपुट और आउटपुट डिवाइस क्या है (I/O Device)? पर ये पोस्ट काफी पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे जरुर अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। हमने कोशिस किया है की इनपुट और आउटपुट डिवाइस क्या है और उसकी संपूर्ण जानकारी आसन और विस्तृत रूप में वर्णन कर सके। यदि आपको और अधिक जानकारी की आवश्यकता है तो आप यहा क्लिक कर पढ़ सकते है अगर आपको कोई भी उलझन हो तो निचे कमेंट कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी. यदि आप हमसे सम्पर्क करना चाहते है या आपके पास कोई सुझाव है तो आप हमसे संपर्क करे। हम आपके सुझाव का स्वागत करते हैं, हम जल्द ही इसकी मोबाइल-एप्प भी आप तक लाने का प्रयास करेंगे। हमारी यूट्यूब चैनल देखने के लिए यहाँ क्लिक करे |

Dear Visitors, अगर आपके पास कोई ज्ञानवर्धक जानकारी है जिससे आप लोगो के साथ बाँटना चाहते है तो हमसे संपर्क कीजिए हमें ईमेल भेजिए–[email protected] यदि पोस्ट अच्छी हुई तो हम जरूर आपके नाम के साथ उसे प्रकाशित करेंगे।

आशा है आपको ये शानदार पोस्ट पसंद आई होगी. 
इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें, Sharing Button पोस्ट के निचे है।

Join Our Hindi Community of 5,00,000+ Readers!

सब्सक्राइब करें और अपने इनबॉक्स में अपडेट प्राप्त करें।

सदस्यता लेने के लिए धन्यवाद।

कुछ गलत हो गया।

पेन ड्राइव को बूटेबल कैसे बनाये (How to Make Bootable USB Pendrive)
पेन ड्राइव को बूटेबल कैसे बनाये – जानें हिन्दी मे
कंप्यूटर हार्डवेयर ऑनलाइन टेस्ट (Computer Hardware Online Test) - Free
कंप्यूटर हार्डवेयर ऑनलाइन टेस्ट | Quiz | Exam
प्रिंटर क्या है और उसके प्रकार (What is Printer and Types of Printer)
प्रिंटर क्या है और उसके प्रकार – जाने हिन्दी मे
Computer Assemble कैसे करे (How to Assemble a Computer)
Computer Assemble कैसे करे? विस्तार से जानिए
error: DMCA Protected !!