पाइथन लैंग्वेज क्या है? – सीखें, हिन्‍दी में।

पाइथन क्या है? (What is Python in Hindi)

आज हम सीखेंगे की “पाइथन क्या है? (What is Python in Hindi)“, “पाइथन का इतिहास (History of Python in Hindi)“, “पाइथन की विशेषताएं (Features of Python in Hindi)“, “विंडोज़ में पाइथन कैसे इनस्टॉल करे? (How to Install Python in Windows)। इस पोस्ट में, मैं “Python” से संबंधित कुछ ऐसे सवालों का जवाब देने जा रहा हूं। मुझे आशा है कि आपको निश्चित रूप से आपका जवाब मिल जायेगा। पायथन एक उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा (High-Level Programming Language) है। यह ओपन सोर्स (Open Source) है, इसलिए इसका सोर्स कोड (Source Code) इसकी वेबसाइट पर उपलब्ध है। यह सबसे लोकप्रिय प्रोग्रामिंग भाषाओं में से एक है, जिसका उपयोग डेस्कटॉप और वेब अनुप्रयोगों (Desktop and Web Applications) से लेकर गेम बनाने (Game Development) तक में किया जाता है।पाइथन क्या है? (What is Python in Hindi)

पायथन में डायनामिक टाइप सिस्टम (Dynamic Type System) और आटोमेटिक मेमोरी मैनेजमेंट (Automatic Memory Management) की सुविधा है। यह सामान्य कार्यों के लिए उपयुक्त (General Purpose), उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा (High Level Programming language), इंटरैक्टिव (Interactive), ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड (Object Oriented), स्क्रिप्टिंग भाषा (Scripting language) है। यह मल्टीप्ल प्रोग्रामिंग परादिग्म्स (Multiple Programming Paradigms) को` सपोर्ट करता है, और इसमें एक बड़ी और व्यापक मानक लाइब्रेरी (Resource Library) है। इस प्रोग्रामिंग भाषा को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि इसमें लिखा गया कोड को आसानी से पढ़ा और समझा जा सकता है।

यदि आप एक सॉफ्टवेयर डेवलपर (Software Developer) के रूप में करियर (Career) चाहते हैं, तो आपको पाइथन में अच्छी तरह से अवगत होना चाहिए। पाइथन प्रोग्रामर्स (Python Programmers) की निरंतर मांग बढ़ रही है, क्योंकि पाइथन एक बहुत लोकप्रिय प्रोग्रामिंग भाषा है, जो वर्तमान में मांग में उच्च है। कंपनियां (Companies) अपने सॉफ्टवेयर को विकसित करने के लिए एक और प्रोग्रामिंग भाषा के बजाय पाइथन में अपने सॉफ्टवेयर को विकसित करने का विकल्प चुन रही हैं। पाइथन आमतौर पर जटिल वेब अनुप्रयोगों (Complex Web Applications) के लिए, सर्वर-साइड प्रोग्रामिंग (Server-Side Programming) के लिए, या वेब सेवा (Web Service) प्रदान करने वाले बड़े ई-कॉमर्स सिस्टम (E-commerce System) के लिए उपयोग किया जाता है। पाइथन प्रोग्रामिंग भाषा मशीन लर्निंग (Machine Learning), आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) और बिग डेटा टेक्नोलॉजी (Big Data Technology) में भी पसंदीदा भाषा बन चुका है।

ज़रूर पढ़िए – कंप्यूटर प्रोग्रामिंग क्या है, कैसे सीखें? (What is Computer Programming in Hindi)

पाइथन का इतिहास (History of Python in Hindi)

पायथन को 1980 के दशक के आखिरी सालों में डिजाइन किया गया था। इसका कार्यान्वयन दिसंबर 1989 में शुरू हुआ। पाइथन को 1985-1990 के दौरान नीदरलैंड (Netherlands) में गिडो वैन रॉसम (Guido Van Rossum) द्वारा बनाया गया था।

पाइथन का पहला संस्करण (Python 1.0) जनवरी 1994 में जारी किया गया था, इसका दूसरा संस्करण (Python 2.0) 16 अक्टूबर, 2000, पाइथन के तीसरे संस्करण को 3 दिसंबर, 2008 को एक लंबी अवधि के बाद जारी किया गया था। यह पायथन 2.x के साथ कम्पेटिबल नहीं था। अब पायथन का संस्करण 3.7 चल रहा है, जिसे 27 जून, 2018 को जारी किया गया था।

पाइथन संस्करण का इतिहास (History of Python Version)

    • Python 1.0 – January 1994
      • Python 1.2 – April 10, 1995
      • Python 1.3 – October 12, 1995
      • Python 1.4 – October 25, 1996
      • Python 1.5 – December 31, 1997
      • Python 1.6 – September 5, 2000
    • Python 2.0 – October 16, 2000
      • Python 2.1 – April 15, 2001
      • Python 2.2 – December 21, 2001
      • Python 2.3 – July 29, 2003
      • Python 2.4 – November 30, 2004
      • Python 2.5 – September 19, 2006
      • Python 2.6 – October 1, 2008
      • Python 2.7 – July 4, 2010
    • Python 3.0 – December 3, 2008
      • Python 3.1 – June 27, 2009
      • Python 3.2 – February 20, 2011
      • Python 3.3 – September 29, 2012
      • Python 3.4 – March 16, 2014
      • Python 3.5 – September 13, 2015
      • Python 3.6 – December 23, 2016
      • Python 3.7 – June 27, 2018

पायथन पढ़ने या पायथन का उपयोग करने के लिए, हमें लाइसेंस (License) लेने या किसी भी कीमत का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि पाइथन जनरल पब्लिक लाइसेंस (GPL) के तहत उपलब्ध है। जीएनयू जनरल पब्लिक लाइसेंस एक व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला मुफ्त सॉफ्टवेयर लाइसेंस है, जो सॉफ्टवेयर चलाने, पढ़ने और संशोधित करने की स्वतंत्रता की गारंटी देता है।

पायथन डाउनलोड और इंस्टॉल कैसे करें? (Download and Install Python in Windows)

  1. पायथन डाउनलोड करने और इनस्टॉल करने के लिए पाइथन की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएं और अपना संस्करण (Version) चुनें। हमने पायथन संस्करण 3.7.0 चुना है।How to Download and Install Python 3.7 on Windows 10
  2. डाउनलोड पायथन 3.7.0 बटन पर क्लिक करें।
  3. एक बार डाउनलोड पूरा होने के बाद, पायथन इनस्टॉल करने के लिए python-3.7.0.exe रन करें। अब “Install Now” पर क्लिक करें।python in hindipython tutorial in hindilearn python in hindi
  4. जब इंस्टालेशन खत्म हो जाये, तो आप एक स्क्रीन देख सकते हैं जो कहता है कि “Setup was successful” अब “Close” पर क्लिक करें।python programming language in hindi
  5. पाइथन अब आपके कंप्यूटर पर सफलतापूर्वक इनस्टॉल हो चुका है।
पायथन “हैलो, वर्ल्ड!” प्रोग्राम (Python “Hello, World!” Program)

Source Code:

Output:

पाइथन की विशेषताएं (Features of Python in Hindi)
  • सरल (Simple): पाइथन एक सरल भाषा है, इसका उपयोग करना बहुत आसान है। हम यह भी कह सकते हैं कि पाइथन प्रोग्रामर फ्रेंडली भाषा (Programmer Friendly Language) है।
  • सीखने में आसान (Easy to Learn): पाइथन सीखना बहुत आसान है, Java और C++ जैसी अन्य लोकप्रिय प्रोग्रामिंग भाषाओं की तुलना में, पायथन में कोड करना आसान है। कोई भी कुछ ही घंटों में पाइथन सिंटैक्स सीख सकता है।
  • स्वतंत्र और मुक्त स्रोत (Free and Open Source): पायथन स्वतंत्र रूप से उपलब्ध है। यह ओपन-सोर्स है। इसका मतलब है कि इसका स्रोत कोड जनता के लिए उपलब्ध है। आप इसे डाउनलोड कर सकते हैं, इसमें बदलाव कर सकते हैं, इसका इस्तेमाल कर सकते हैं, और इसे वितरित कर सकते हैं। पाइथन भाषा खुला स्रोत है ताकि आप इसे स्वतंत्र रूप से डाउनलोड और उपयोग कर सकें। पायथन भाषा स्वतंत्र रूप से www.python.org उपलब्ध है।
  • उच्च स्तर की भाषा (High Level Language): पायथन एक उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा (High Level Programming Language) है। इसका मतलब है कि प्रोग्रामर के रूप में, हमें सिस्टम आर्किटेक्चर (System Architecture) को याद रखने की आवश्यकता नहीं है। जब आप पायथन में प्रोग्राम लिखते हैं, तो आपको निम्न स्तर के विवरणों के बारे में परेशान होने की आवश्यकता नहीं होती है जैसे कि आपके प्रोग्राम द्वारा उपयोग की जाने वाली मेमोरी को प्रबंधित करना आदि। यह इसे अधिक प्रोग्रामर-अनुकूल बनाता है।
  • ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड (Object Oriented): पायथन एक ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग भाषा (Object-Oriented Programming Language) है। यह ऑब्जेक्ट (Object) और क्लास (Class) कॉन्सेप्ट्स का पालन करता है।  पाइथन ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग करने का एक बहुत ही शक्तिशाली लेकिन सरल तरीका है, खासकर, जब C++ या Java जैसी भाषाओं से इसकी तुलना की जाये।
  • क्रॉस-प्लेटफार्म भाषा (Cross-Platform Language): पाइथन मुक्त स्रोत होने के कारण कई प्लेटफार्मों (Platforms) पर उपलब्ध है। जैसे लिनक्स (Linux), विंडोज़ (Windows), मैक ओएस (macOS) आदि। यह प्लेटफार्म इंडिपेंडेंट (Platform Independent) प्रोग्रामिंग भाषा है, इसका कोड (Code) आसानी से विंडोज, लिनक्स, यूनिक्स, मैक ओएस आदि जैसे किसी भी प्लेटफ़ॉर्म पर चलता है। मान लें कि आपने अपनी विंडोज मशीन के लिए पाइथन कोड लिखा है। अब, यदि आप इसे मैक पर चलाना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए बदलाव करने की आवश्यकता नहीं है। दूसरे शब्दों में, आप एक कोड ले सकते हैं और इसे किसी भी मशीन पर चला सकते हैं, अलग-अलग मशीनों के लिए अलग-अलग कोड लिखने की आवश्यकता नहीं है। यह पायथन एक पोर्टेबल (Portable) भाषा बनाता है।
  • इन्ट्रप्रीटेड भाषा (Interpreted Language): जिस तरह C या C++ भाषा कम्पाइल (Compile) की जातीं हैं, पाइथन उस तरह कम्पाइल नहीं की जाती है। यह इन्ट्रप्रीटेड भाषा (Interpreted Language) है, पाइथन कोड को एक समय में लाइन से लाइन (Line by Line) एक्सीक्यूट (Execute) करता है।
  • एक्सटेंसिबल (Extensible): यदि आवश्यक हो, तो आप अपने पायथन कोड को अन्य भाषाओं जैसे C / C ++ के साथ कंबाइन (Combine) कर सकते हैं। यह विशेषता पायथन को एक एक्स्टेंसिबल भाषा (Extensible Language) बनाता है, जिसका अर्थ है कि इसे अन्य भाषाओं तक बढ़ाया जा सकता है। यदि आप चाहते हैं कि किसी प्रोग्राम का एक भाग बहुत तेजी से एक्सीक्यूट हो, तो आप उस भाग को C में लिख सकते है।
  • जीयूआई प्रोग्रामिंग सपोर्ट (GUI Programming Support): आप पाइथन का उपयोग कर ग्राफिकल यूजर इंटरफेस (Graphical user interface) डिजाइन (Design) कर सकते हैं।
  • डेटाबेस कनेक्टिविटी (Databases Connectivity): पायथन सभी प्रमुख कमर्शियल डेटाबेस (Commercial Databases) में इंटरफेस (Interface) प्रदान करता है।
  • व्यापक लाइब्रेरी (Large Standard Library): पायथन में एक बड़ा और व्यापक लाइब्रेरी है और तेजी से अनुप्रयोग विकास के लिए मॉड्यूल और फंक्शंस का समृद्ध सेट प्रदान करता है। जिसका आप उपयोग कर सकते हैं ताकि आपको प्रत्येक चीज़ के लिए अपना कोड लिखना न पड़े।

Buttonइन्हें भी देखें –

प्रिय पाठकों, मै आशा करता हूँ की आपको हमारी ‘पाइथन क्या है? (What is Python in Hindi)‘ पर यह पोस्ट बहुत पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे जरुर अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। हमने कोशिस किया है की पाइथन क्या है? (What is Python in Hindi) की संपूर्ण जानकारी आसान और विस्तृत रूप में वर्णन कर सके। यदि आपको और अधिक जानकारी की आवश्यकता है तो आप यहाँ क्लिक कर पढ़ सकते है, अगर आपको कोई भी उलझन हो तो निचे कमेंट कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी. यदि आप हमसे सम्पर्क करना चाहते है या आपके पास कोई सुझाव है तो आप हमसे संपर्क करे। हम आपके सुझाव का स्वागत करते हैं, हमारी यूट्यूब चैनल देखने के लिए यहाँ क्लिक करे

Banana Dancing

कृपया ध्यान दें: नीचे दिए गये “Register Now” बटन के माध्यम से आप हमे निशुल्क ज्वाइन कर सकते हैं। नवीनतम जॉब अपडेट पाने के लिए आप हमारे फेसबुक ग्रुप को जॉइन कर सकते हैं और हमारे एंड्रॉइड एप्प को भी डाउनलोड कर सकते हैं। हमारे इस एप्प का उद्देश्य प्रतियोगता परीक्षाओं की तयारी करने वाले छात्रों को नवीन माध्यम द्वारा ज्ञान उपलब्ध करवाना है। जिससे वह अपने मोबाइल द्वारा ही समस्त जानकारी प्राप्त कर सके, आपको हमारा यह प्रयास कैसा लगा, हमें कमेंट में जरूर बताएं।register-button

Dear Visitors, अगर आपके पास कोई ज्ञानवर्धक जानकारी है जिससे आप लोगो के साथ बाँटना चाहते है तो हमसे संपर्क कीजिए हमें ईमेल भेजिए–[email protected] यदि पोस्ट अच्छी हुई तो हम जरूर आपके नाम के साथ उसे प्रकाशित करेंगे।
आशा है आपको ये शानदार पोस्ट पसंद आई होगी। 
इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें, Sharing Button पोस्ट के निचे है।

Leave a Reply

error: DMCA Protected !!
Download Our AppInstall Now
+